News Articleउत्तराखंडदेहरादूनशिक्षा

कालेजों के लिए दाखिले में छात्रों को बड़ी राहत, इस बार नहीं देना होगा कामन यूनिवर्सिटी एन्ट्रेंस टेस्ट

Listen to this article

Dehradun: विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) में विषय भौगोलिक परिस्थितियों को देखते हुए हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल केंद्रीय विश्वविद्यालय सहित पूर्वोत्तर के विवि से संबद्ध कालेजों में इस साल दाखिले को बड़ी राहत दी है।

नहीं देना होगा कामन यूनिवर्सिटी एन्ट्रेंस टेस्ट

यूजीसी की ओर से जारी एक पत्र के मुताबिक इन विश्वविद्यालय से संबद्ध कालेजों में इस साल पूर्व की व्यवस्था के तहत स्नातक व स्नातकोत्तर प्रथम वर्ष में दाखिले होंगे। यानी इन कालेजों में दाखिले के इच्छुक अभ्यर्थियों को कामन यूनिवर्सिटी एन्ट्रेंस टेस्ट (सीयूईटी) नहीं देना होगा। केवल मेरिट के आधार पर ही प्रवेश मिल जाएगा। हालांकि, यह छूट सिर्फ इस वर्ष के लिए है।इन तीन परिसरों में लागू रहेगी एन्ट्रेंस टेस्ट व्यवस्था

एचएनबी गढ़वाल केंद्रीय विवि के अपने तीन परिसर बिड़ला परिसर श्रीनगर गढ़वाल, टिहरी व पौड़ी परिसरों में कामन यूनिवर्सिटी एन्ट्रेंस टेस्ट (सीयूईटी) व्यवस्था लागू होगी।

यूजीसी के इस पत्र के बाद केंद्रीय गढ़वाल विश्वविद्यालय से संबद्ध डीएवी पीजी कालेज, डीबीएस, एमकेपी, एसजीआरआर पीजी कालेज सहित जितने भी प्राइवेट पैरामेडिकल व अन्य गढ़वाल विवि से संबद्ध कालेज हैं, सभी में पूर्व की व्यवस्था के तहत दाखिले होंगे। इनमें से किसी भी कालेज में सीयूईटी परीक्षा की जरूरत नहीं है।विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने दाखिले के लिए लागू किया था सीयूईटी

विदित रहे कि इस वर्ष से विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने देशभर के सभी 46 केंद्रीय विश्वविद्यालयों और उनसे संबद्ध कालेजों में स्नातक व स्नातकोत्तर प्रथम वर्ष में दाखिले के लिए कामन यूनिवर्सिटी एन्ट्रेंस टेस्ट (सीयूईटी) लागू किया था। यह परीक्षा नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) की ओर से आयोजित की जानी है। इसके लिए इच्छुक अभ्यर्थी को एनटीए के पोर्टल पर आनलाइन आवेदन करना है।

Show More

Related Articles

Back to top button
उत्तराखंड
राज्य
वीडियो