News Articleउत्तराखंडटेक्नोलॉजीदेहरादून

उत्‍तराखंड की जनता पर लगेगा महंगाई का एक और झटका, बिजली की दरों में बढ़ोतरी??????

Listen to this article

Dehradun : ऊर्जा प्रदेश में मंडरा रहे बिजली संकट से उभरने को उपभोक्ताओं की जेब पर दोबारा बोझ पडऩे वाला है। ऊर्जा निगम बिजली की दरों में बढ़ोतरी करने जा रहा है। इसको लेकर उत्तराखंड विद्युत नियामक आयोग में याचिका दायर की गई है।

अपने घाटे की भरपाई करने के लिए इस बार ऊर्जा निगम ने 12.27 प्रतिशत की वृद्धि का प्रस्ताव भेजा है। जिस पर अगले सप्ताह तक आयोग कोई निर्णय लेगा। जबकि इससे पहले भी ऊर्जा निगम अप्रैल में विद्युत दरों में 2.68 प्रतिशत की बढ़ोतरी कर चुका है।
घाटे की भरपाई उपभोक्ताओं से करने में कोई गुरेज नहीं

देशभर में उपजे बिजली संकट के बीच राष्ट्रीय बाजार से महंगी बिजली खरीद आपूर्ति सुचारू रखने में ऊर्जा निगम के हाथ-पांव फूल गए। फिजूल खर्ची और भ्रष्टाचार के आरोपों से घिरा रहने वाला ऊर्जा निगम वित्तीय हालत खराब होने का रोना तो रोता है, लेकिन कार्यशैली में सुधार लाने के बजाय घाटे की भरपाई उपभोक्ताओं से करने में कोई गुरेज नहीं करता। साथ ही लाइन लास और बिजली चोरी रोकने को प्रभावी कार्रवाई करने से भी निगम बचता है।
धर, ऊर्जा निगम के प्रबंध निदेशक अनिल कुमार महंगी बिजली खरीद के कारण घाटा होने का हवाला दे रहे हैं। ऐसे में नियामक आयोग में याचिका दायर कर बिजली दर बढ़ाने की मांग की जा रही है।

922 करोड़ की बिजली खरीद का अनुमान

ऊर्जा निगम के प्रबंध निदेशक अनिल कुमार ने बताया वार्षिक टैरिफ में आयोग की ओर से वर्ष 2022-23 की विद्युत दरें अनुमोदित करते समय 2525 मिलियन यूनिट की उपलब्धता मानी गई थी, लेकिन गैस की कीमतों में हुई वृद्धि के कारण कुछ विद्युत गृह बंद पड़े हैं। बिजली की कमी को पूरा करने के लिए एक्सचेंज से 12 रुपये प्रति यूनिट की दर से खरीद की जा रही है।

Show More

Related Articles

Back to top button
उत्तराखंड
राज्य
वीडियो