News Articleउत्तर प्रदेशसामाजिक

Bahraich News: भारत-नेपाल बॉर्डर पर बनेगा मैत्री द्वार, पांच थाने होंगे हाईटेक

Listen to this article

Lucknow:भारत-नेपाल सीमा अंतराष्ट्रीय सीमा क्षेत्र को आधुनिक अंतरराष्ट्रीय पहचान दिलाने के लिए बार्डर पर भव्य इंडो-नेपाल मैत्री द्वार का निर्माण करवाया जाएगा। बॉर्डर के किनारे स्थित पांच थानों को आधुनिक बनाया जाएगा और आने-जाने वालों पर निगरानी रखने के लिए वॉच टॉवर का निर्माण करवाया जाएगा। इसके साथ ही बॉर्डर पर नेताजी सुभाष चंद्र बोस के नाम पर आधुनिक विद्यालय का निर्माण करवाया जाएगा। सोमवार की शाम जिलाधिकारी व एसपी ने रुपईडीहा थाने पर हुई एक बैठक में ये बातें कही।

एसपी केशव कुमार चौधरी ने बताया कि बॉर्डर डेवलपमेंट के तहत सीमा क्षेत्र से सटे पांच थानों नवाबगंज, मोतीपुर, सुजौली, रूपईडीहा, मुर्तिहा को उच्चीकृत किया जाएगा। सीमा क्षेत्र के हर पांच किलोमीटर पर एक पुलिस चौकी व वॉच टॉवर का निर्माण करवाया जाएगा। बैठक में जिलाधिकारी डॉ. दिनेश चन्द्र ने कहा कि बार्डर पर नो मैंस लैंड के बगल में एक विशाल प्रवेश द्वार का निर्माण करवाया जाएगा। इस इंडो-नेपाल मैत्री प्रवेश द्वार के निर्माण लिए पीडब्लूडी विभाग ने खाका तैयार कर लिया है। डीएम ने मौजूद लोगों को प्रवेश द्वार का नक्शा भी दिखाया। बार्डर के विकास के लिए पीपीपी मॉडल पर 100 एकड़ में बहुउद्देश्यीय हब बनाया जाएगा।

जिसमें मॉल, बस स्टैंड, अस्पताल, पार्क, स्टेडियम, मंडी आदि का निर्माण कराया जाएगा। इसमें आम पब्लिक भी हिस्सेदार बन सकती है और इच्छुक व्यक्ति जिलाधिकारी कार्यालय में आवेदन कर सकता है। उन्होंने बताया कि हब के लिए जमीन की तलाश की जा रही है और तीन स्थानों पर जमीन देखी गई है। उन्होंने कहा कि सुगमता से मिलने वाली सस्ती भूमि को किसानों की सहमति से ही लिया जाएगा। बैठक में डीएम ने रुपईडीहा में पानी टंकी निर्माण में हो रही देरी पर नाराजगी जताते हुए राजस्व कर्मियों को फटकार लगाई। बैठक में विधायक नानपारा रामनिवास वर्मा मौजूद रहे।

Show More

Related Articles

Back to top button
उत्तराखंड
राज्य
वीडियो