News Articleउत्तराखंडनैनीतालफीचर्ड

बारिश के चलते जर्जर सड़कें और हुई क्षतिग्रस्त

Listen to this article

Nainital : बारिश के चलते नगर निगम की पहले से जर्जर सड़कें और क्षतिग्रस्त हो गई हैं। बारिश से कई सड़कों पर दो फीट तक गड्ढे बन गए हैं। इस बारिश से निगम की करीब 80 किमी सड़क खराब हो गई। उधर तिकोनिया से लेकर केमू स्टेशन तक जाने वाली सड़क चलने लायक भी नहीं बची है।

बजट के अभाव में नगर निगम क्षेत्र की सड़कें पहले से ही खराब थीं। इसके बाद गैस पाइपलाइन, पेयजल, सीवर लाइन आदि बिछाने के नाम पर सड़कें खोद दी गईं जिन्हें सही नहीं किया गया।

शनिवार को निगम क्षेत्र में हुई भारी बारिश ने इन सड़कों को चलने लायक भी नहीं छोड़ा है। कई सड़कों पर आधे से दो फीट तक गहरे गड्ढे हो गए हैं। खराब सड़कों में मुख्य रूप से तिकोनिया से केमू स्टेशन, एमबी इंटर कॉलेज से तिकोनिया तक आने वाले बाईपास, नवाबी रोड समेत कई सड़कें क्षतिग्रस्त हो गई हैं।
नगर आयुक्त पंकज उपाध्याय ने बताया कि बजट मिलने के बाद सड़कों की मरम्मत की जाएगी।
लोनिवि की कई नई सड़कें पहली बारिश भी नहीं झेल पाई
हल्द्वानी। बारिश के चलते लोक निर्माण विभाग की सड़कें भी कई जगह से उखड़ गईं। नैनीताल रोड, कालाढूंगी रोड, रामपुर रोड में कई जगह गड्ढे बन गए। उधर एक वर्ष पूर्व बनी मंडी से तीनपानी तक की सड़क भी कई जगह उखड़ गईं। कालाढूंगी विधानसभा क्षेत्र में लोनिवि की ओर से बनाए गए कॉलोनी के लिंक मार्ग भी कई जगह से उखड़ गए। (माई सिटी रिपोर्टर)
फोरलेन हाईवे भी चलने लायक नहीं
हल्द्वानी। तीनपानी से लेकर रुद्रपुर तक बन रहा फोरलेन हाईवे अधूरा पड़ा है जिस कंपनी को एनएचएआई ने काम दिया था, उसने काम रोक दिया है। बारिश के कारण जगह-जगह खोदी गई सड़क में गड्ढे बन गए हैं। तीनपानी से लेकर लालकुआं तक सड़क चलने लायक भी नहीं बची है। लोगों ने एनएचएआई से जल्द हाईवे के गड्ढे भरने की मांग की है।

Show More

Related Articles

Back to top button
उत्तराखंड
राज्य
वीडियो