News Articleउत्तराखंडदेहरादूनराजनीति

उत्तराखंड कांग्रेस को झटका, आप में शामिल हुए कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष जोत सिंह बिष्ट

Listen to this article

Dehradun : उत्तराखंड में संगठन को मजबूत करने की तैयारी में जुटी कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष जोत सिंह बिष्ट ने सुबह पार्टी छोड़ने की घोषणा की और दोपहर में दिल्ली में आम आदमी पार्टी का दामन थाम लिया। चम्पावत उपचुनाव के मौके पर इस टूट का असर पार्टी कार्यकर्त्‍ताओं के मनोबल पर असर डालने वाला साबित हो सकता है।

प्रदेश में विधानसभा चुनाव में हार के बाद कांग्रेस ने संगठन नए सिरे से खड़ा करने के लिए प्रदेश अध्यक्ष, नेता प्रतिपक्ष और उपनेता प्रतिपक्ष के पदों पर तमाम कयासों को दरकिनार कर नए चेहरों को मौका दिया।इस परिवर्तन में क्षेत्रीय संतुलन की अनदेखी, विशेष रूप से गढ़वाल क्षेत्र के प्रतिनिधित्व की अनदेखी को लेकर पार्टी के निर्णय पर सवाल भी उठे। यद्यपि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष करन माहरा असंतोष को साधने और संगठन को मजबूत करने के लिए इन दिनों गढ़वाल के दौरे पर हैं।

माहरा के दौरे के बीच पार्टी में टूट

माहरा के दौरे के बीच में ही प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष जोत सिंह बिष्ट ने जिस तरह पार्टी छोड़ी, उससे यह भी स्पष्ट है कि अंदरखाने पार्टी में असंतोष थम नहीं पा रहा है। बिष्ट ने टिहरी जिले की धनोल्टी सीट से विधानसभा का चुनाव लड़ा था, लेकिन वह हार गए। शुक्रवार सुबह इंटरनेट मीडिया पर अपनी पोस्ट में बिष्ट ने पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से त्यागपत्र देने की घोषणा की।
पार्टी के निर्णय पर उठाए सवाल

कांग्रेस में अपने 40 वर्षों की यात्रा का जिक्र करते हुए जोत सिंह बिष्ट ने कहा कि लंबे समय से अंतर्कलह, अनुशासनहीनता, निष्ठावान कार्यकत्र्ताओं की अनदेखी और एकतरफा निर्णयों से पार्टी का भविष्य अनिश्चितता की ओर जा रहा है। नेतृत्व की पांत में बैठे लोग लगातार हार के बाद भी सबक लेने के बजाय व्यक्तिगत हितों के लिए संघर्ष कर रहे हैं। इसमें सुधार की गुंजाइश दूर-दूर तक दिखाई नहीं पड़ रही है
हरीश रावत की अपील बेअसर

बिष्ट पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के खास समर्थकों में शुमार रहे। यही कारण है कि सुबह इंटरनेट मीडिया पर उनके त्यागपत्र देने की घोषणा के बावजूद हरीश रावत ने कहा कि वह इसे अस्वीकार करते हैं। उन्होंने बिष्ट से त्यागपत्र संबंधी पोस्ट को वापस लेने को भी कहा। उनकी यह अपील भी काम नहीं आई। जोत सिंह बिष्ट ने दिल्ली में अपने पुत्र हेमंत के साथ आप में शामिल हो गए।

Show More

Related Articles

Back to top button
उत्तराखंड
राज्य
वीडियो