News Articleउत्तराखंडदेहरादूनसामाजिक

Uttarakhand Weather: देहरादून में झमाझम बारिश, यमुनोत्री के राना गांव में घुसा पानी

Listen to this article

Dehradun :उत्तराखंड में मंगलवार को मौसम ने फिर करवट बदली। दोपहर को देहरादून में झमाझम बारिश हुई। वहीं, मौसम विभाग के अनुसार, सभी जिलों में गरज के साथ बारिश की संभावना है। खासकर देहरादून, पौड़ी, चंपावत, नैनीताल और ऊधमसिंह नगर जिलों में आंधी के साथ तेज बारिश हो सकती है। वहीं, प्रदेशभर में आज सुबह से ही बादल छाए हैं। मसूरी में घने बादल के साथ ही कोहरा भी छाया हुआ है।

प्रदेश में मंगलवार को पर्वतीय क्षेत्रों में हुई भारी बारिश ने जनजीवन अस्त-व्यस्त कर दिया। भूस्खलन और भारी मात्रा में मलबा आने के कारण तीन राष्ट्रीय राजमार्गों सहित 212 सड़कें बंद हो गईं। रुद्रप्रयाग और पिथौरागढ़ में दो पुल क्षतिग्रस्त हुए हैं। इसके अलावा कई जगह बिजली-पानी की लाइनों को भी नुकसान पहुंचा है। इससे लोगों को दिक्कतों का सामाना करना पड़ रहा है।
लोनिवि की ओर से मंगलवार शाम पांच बजे जारी बुलेटिन के अनुसार, प्रदेश में 14 स्टेट हाईवे, 10 मुख्य जिला मार्ग, छह अन्य जिला मार्ग, 79 ग्रामीण सड़कें और पीएमजीएसवाई की 100 सड़कें भूस्खलन और भारी मात्रा में मलबा आने से बंद हैं। मंगलवार को 66 सड़कों को ही खोला जा सका। जबकि 89 सड़कें बंद हुईं। इसके अलावा एक दिन पहले से 125 सड़कें बंद थीं। इस तरह से कुल 212 सड़कों को खोलने की कार्रवाई की जा रही है। इनमें 235 जेशीबी मशीनों को काम पर लगाया गया है।

वहीं, सचिवालय स्थित राज्य आपातकालीन परिचालन केंद्र के अनुसार, रुद्रप्रयाग में उत्तरकाशी-टिहरी-घनसाली-मयाली-तिलवाड़ा मोटर मार्ग पर स्थित 21 मीटर स्पान का स्टील गार्डर पुल क्षतिग्रस्त हुआ है। यातायात को सुचारू करने के लिए वैली ब्रिज को बनाने की कार्रवाई की जा रही है। पिथौरागढ़ जिले में क्वीटी-बिर्थी – मुनस्यारी मोटर मार्ग पर भी एक पुल क्षतिग्रस्त हुआ है। बीआरओ की वैकल्पिक व्यवस्था के तहत यातायात को डायर्वट किया गया है। जिले में कई जगह अतिवृष्टि से बिजली और पेयजल लाइनों को भी नुकसान पहुंचा है।

Show More

Related Articles

Back to top button
उत्तराखंड
राज्य
वीडियो