News Articleउत्तर प्रदेश

Mathura: क्या है श्रीकृष्ण जन्मभूमि और शाही ईदगाह की कहानी, जानें कब और कैसे शुरू हुआ विवाद?

Listen to this article

Mathura :इलाहाबाद हाईकोर्ट ने आज मथुरा में मंदिर-मस्जिद विवाद पर सुनवाई की। कोर्ट ने यहां वीडियोग्राफी और फोटोग्राफी सर्वे कराने की याचिका पर निचली अदालत से चार महीने में सुनवाई पूरी करने का निर्देश दिया है।

कोर्ट के इस आदेश के बाद एक बार फिर से श्रीकृष्ण जन्मभूमि का मुद्दा गर्म हो गया है। लोग इस पूरे विवाद की जड़ जानने की कोशिश कर रहे हैं। हर कोई जानना चाहता है कि आखिर श्रीकृष्ण जन्मभूमि और शाही ईदगाह मस्जिद का विवाद क्या है? कब और कैसे विवाद शुरू हुआ? हिंदू पक्ष और मुस्लिम पक्ष के दावे क्या-क्या हैं? आइए जानते हैं…

पहले जानिए आज हाईकोर्ट ने क्या-क्या कहा? 
मथुरा के श्रीकृष्ण जन्मभूमि और शाही ईदगाह मस्जिद को लेकर विवाद है। 13.37 एकड़ भूमि के स्वामित्व की मांग को लेकर मथुरा कोर्ट में याचिका दायर की गई है। याचिका में पूरी जमीन लेने और श्री कृष्ण जन्मभूमि के बराबर में बनी शाही ईदगाह मस्जिद को हटाने की मांग की गई है। याचिकाकर्ता ने विवादित स्थल की वीडियोग्राफी और फोटोग्राफी कराने की भी  मांग की थी। निचली अदालत में ये मामला लंबित है। लगातार देरी होने के चलते याचिकाकर्ता मनीष यादव ने हाईकोर्ट का रूख किया। मनीष ने हाईकोर्ट में भी यही मांग की। इसके बाद कोर्ट ने निचली अदालत से आख्या मांगी थी। इसी मामले में हाईकोर्ट में आज सुनवाई हुई।

कोर्ट ने मंदिर पक्ष की ओर से निचली अदालत में दाखिल अर्जी पर चार महीने में सुनवाई पूरी करने का निर्देश दिया है। कोर्ट ने कहा कि निचली अदालत मामले में 4 महीने में सुनवाई पूरी करें। निचली अदालत में मस्जिद के सर्वे कराने को लेकर अर्जी दाखिल की गई है। जिस पर सुनवाई चल रही है।

Show More

Related Articles

Back to top button
उत्तराखंड
राज्य
वीडियो